_West Bengal: पूरे राज्य में केंद्रीय बल तैनात कर कराएं चुनाव, हाई कोर्ट ने राज्य चुनाव आयोग को दिये निर्देश_

*_West Bengal: पूरे राज्य में केंद्रीय बल तैनात कर कराएं चुनाव, हाई कोर्ट ने राज्य चुनाव आयोग को दिये निर्देश_*

आइडियल इंडिया न्यूज़

सुरनजीत चक्रवर्ती हावड़ा

*_कोलकाता हाई कोर्ट ने राज्य निर्वाचन आयोग को निर्देश दिया है कि सभी जिलों में 48 घंटों के भीतर केंद्रीय बल तैनात किया जाए_*
कोलकाता : पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव के नामांकन के दौरान भारी हिंसा को देखते हुए कलकत्ता हाई कोर्ट ने पूरे राज्य में केंद्रीय बल तैनात कर चुनाव कराने का निर्देश दिया है। इससे पहले सिर्फ संवेदनशील सात जिलों में केंद्रीय बल तैनात करने का आदेश दिया था। कोलकाता हाई कोर्ट ने राज्य निर्वाचन आयोग को निर्देश दिया है कि सभी जिलों में 48 घंटों के भीतर केंद्रीय बल तैनात किया जाए। कोर्ट ने नामांकन के अंतिम दिन हुई तीन हत्याएं और हिंसा की कई खबरों को देखते हुए नाराजगी जताई और राज्य चुनाव आयोग से इस आदेश का पालन करने को कहा। बीजेपी काफी समय से इसकी मांग कर रही थी।

हिंसा की कई घटनाएं

पश्चिम बंगाल में पंचायत राज प्रणाली में करीब 75,000 सीटों पर आठ जुलाई को चुनाव होगा। गुरुवार को नामांकन के आखिरी दिन कई जगह हिंसा हुई। उत्तर दिनाजपुर जिले में तीन व्यक्तियों को कथित तौर पर गोली मार दी गई, जिसमें से एक व्यक्ति की मौत हो गई। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इसमें अपनी पार्टी के लोगों के शामिल होने से इनकार किया है और दूसरे दलों पर पंचायत चुनाव के नामांकन के दौरान हिंसा करने का आरोप लगाया है।

टीएमसी पर हिंसा का आरोप

उत्तर दिनाजपुर जिले में तीन व्यक्तियों को गोली मारने की घटना पर मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने टीएमसी कार्यकर्ताओं को जिम्मेदार ठहराया है। माकपा के प्रदेश सचिव मोहम्मद सलीम ने आरोप लगाया कि इस हमले के पीछे तृणमूल कांग्रेस का हाथ है। तीन लोगों को उस वक्त गोली मारी गई जब वे अपना नामांकन दाखिल करने के लिए चोपड़ा ब्लॉक कार्यालय जा रहे थे। एक अधिकारी ने कहा कि घटना के बाद तीनों घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उपचार के दौरान एक व्यक्ति की मौत हो गई। बाकी दो घायलों की स्थिति गंभीर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.