सुंदर महिलाओं को ले जाते हैं टी एम सी कार्यकर्ता, पार्टी ऑफिस में करते हैं दुष्कर्म,

*सुंदर महिलाओं को ले जाते हैं टी एम सी कार्यकर्ता, पार्टी ऑफिस में करते हैं दुष्कर्म,

स्मृति ईरानी का गंभीर आरोप*

आइडियल इंडिया न्यूज़

डा ए के गुप्ता द्वारका नई दिल्ली

 

 

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल के 24 परगना में कुख्यात संदेशखाली में तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर महिलाओं के साथ दुष्कर्म करने का आरोप लगा है। यह आरोप खुद संदेशखाली की महिलाओं ने एक वीडियो में लगाया है। सोमवार को केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर टीएमसी पर हमला किया। उन्होंने कहा कि संदेशखाली में कुछ महिलाओं ने मीडिया को अपनी आपबीती सुनाई है। यह बेहद दर्दनाक और डराने वाली सच्चाई है।

उन्होंने कहा कि संदेशखाली में कुछ महिलाओं ने मीडिया को अपनी आपबीती सुनाई है। महिलाओं ने बताया कि टीएमसी के गुंडे हर घर में सबसे खूबसूरत महिला की पहचान करने के लिए घर-घर गए। चिन्हित महिलाओं से कहा गया कि भले ही तुम पति हो, लेकिन अब तुम्हारा अपनी पत्नी पर कोई अधिकार नहीं है। वे हर रात महिलाओं का अपहरण कर लेते थे। वह जब तक हम से संतुष्ट नहीं हो जाते, हमें नहीं छोड़ते। ये आरोप महिलाओं ने लगाए हैं। यह आरोप क्षेत्र के दलित, एसटी, मछुआरा और किसान समुदाय की महिलाओं ने लगाए हैं।

 

संदेशखाली की महिलाओं ने लगाया बलात्कार का आरोप

 

संदेशखाली हिंसा पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि ममता बनर्जी हिंदुओं के नरसंहार के लिए जानी जाती हैं। वह अब अपने आदमियों को टीएमसी कार्यालय में युवा विवाहित हिंदू महिलाओं को बलात्कार के लिए ले जाने की अनुमति देंगी। यह आदमी कौन है? संदेशखाली की महिलाओं ने बंगाली हिंदू महिलाओं के सामूहिक बलात्कार का आरोप लगाया है? अब तक हर कोई सोच रहा है कि शेख शाहजहां कौन है। अब, ममता बनर्जी को इस सवाल का जवाब देना होगा कि शेख शाहजहां कहां है?

 

यह आंसू बहाने का समय- राज्यपाल

 

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल सीवी आनंद बोस ने कहा कि मैंने जो देखा वह भयानक रूप से चौंकाने वाला था। मेरे होश उड़ गए। मैंने कुछ ऐसा देखा जो मुझे कभी नहीं देखना चाहिए था। मैंने बहुत सी चीजें सुनीं जो मुझे कभी नहीं सुननी चाहिए थीं। अगर आपके आंसू हैं, यह उन आंसुओं को बहाने का समय है। मानव जीवन कितना भयानक है, जहां कानून अपना काम नहीं कर सकता।

गुंडों ने पत्नी के सामने पति को पीटा- राज्यपाल

उन्होंने कहा कि मैंने वहां अपनी माताओं और बहनों की बात सुनी। एक खुशहाल घर की कल्पना करें। पति और पत्नी, बड़े बच्चे, जिनमें बच्चियां भी शामिल हैं। कुछ गुंडे घर के अंदर से आते हैं, बच्चियों को पकड़ लेते हैं, पति के सामने पत्नी पर हमला करते हैं और पति को पीटते हैं।

दोषियों को मिलेगी सजा- राज्यपाल

 

उन्होंने कहा कि वे जानते हैं कि यह किसने किया। हमें इसे संविधान के तहत लड़ना चाहिए। मैं इसे संविधान के तहत लड़ूंगा। मैं इसे कानून के तहत लड़ूंगा। मैं राज्य की लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित सरकार के साथ इसके खिलाफ लड़ूंगा। निश्चित रूप से हम यह सुनिश्चित करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे कि दोषियों को सजा मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published.