पटियाला जेल भेजे गए सिद्धू, बने कैदी नंबर 241383, जेल में मिली दो पगड़ी, एक कंबल

पटियाला जेल भेजे गए सिद्धू, बने कैदी नंबर 241383, जेल में मिली दो पगड़ी, एक कंबल और…*

पटियाला

कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को पटियाला कोर्ट में सरेंडर करने के बाद जेल भेज दिया गया है। सिद्धू को पटियाला जेल के 10 नंबर वार्ड में रखा गया है।

Navjot sidhu in Jail: कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को पटियाला कोर्ट में सरेंडर करने के बाद जेल भेज दिया गया है। सिद्धू को पटियाला जेल के 10 नंबर वार्ड में रखा गया है। यह वार्ड 12×15 फीट का है। पटियाला जेल में वे कैदी नंबर 241383 बने हैं। सिद्धू के कट्टर प्रतिद्वंद्वी बिक्रम सिंह मजीठिया, जिन्होंने इस साल फरवरी में मादक पदार्थों की तस्करी के एक मामले में आत्मसमर्पण किया था, वह भी पटियाला जेल में बंद है।

*जेल में मिला ये सामान*
इसके अलावा नवजोत सिंह सिद्धू को पटियाला जेल में एक कुर्सी, मेज, दो पगड़ी, एक अलमारी, एक कंबल, एक बेड, तीन अंडरवियर और बनियान, दो टॉवल, एक मच्छरदानी, एक कॉपी पेन, एक शूज की जोड़ी, दो बेडशीट, चार कुर्ते पजामे और दो सिरहाने का कवर मिला है। सिद्धू में जेल को काम के बदले 30 से 90 रुपए प्रतिदिन मिलेंगे।

*34 साल पुराने रोड रेज मामले में सजा*
सिद्धू के वार्ड से आधा किलोमीटर की दूरी पर बिक्रम जीत सिंह मजीठिया का वार्ड है। दरअसल, सिद्धू को रोड रेज मामले में सुप्रीम कोर्ट ने एक साल की सजा सुनाई है। कोर्ट ने उन्हें आत्मसमर्पण करने के लिए कहा था। सिद्धू ने कल शुक्रवार को पटियाला कोर्ट में सरेंडर कर दिया जिसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया। सुप्रीम कोर्ट ने सिद्धू को 34 साल पुराने रोडरेज मामले में सजा सुनाई है। सिद्धू से जिस व्यक्ति का झगड़ा हुआ था, उसकी मौत हो गई थी।

*जानें क्या था 1988 का पूरा मामला*
बता दें कि सिद्धू के खिलाफ रोडरेज का मामला साल 1988 का है। सिद्धू का पटियाला में पार्किंग को लेकर 65 साल के गुरनाम सिंह नामक बुजुर्ग व्यक्ति से झगड़ा हो गया। आरोप है कि उनके बीच हाथापाई भी हुई। जिसमें सिद्धू ने कथित तौर पर गुरनाम सिंह को मुक्का मार दिया था। बाद में गुरनाम सिंह की मौत हो गई। पुलिस ने नवजोत सिंह सिद्धू और उनके दोस्त रुपिंदर सिंह सिद्धू के खिलाफ गैर-इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.